गन्ना क्रय केन्द्रो पर खरीदारी न होने पर भड़के किसान

विकास भवन पर गन्ना लदी ट्रालियों के साथ डाला डेरा, भाकियू ने शुरू किया अनिश्चितकालीन किसान पंचायत
बस्ती। गन्ने खरीद का इंतजार कर रहे किसानों का धैर्य बुधवार को टूट गया और वे गन्ना क्रय केन्द्र बेलघाट से अपना ट्रालियों पर लदा गन्ना विकास भवन कार्यालय पर लेकर पहुंच गये। किसानों की गन्ना लदी ट्राली देख जिम्मेदार अधिकारियों के हाथ पांव फूल गये किन्तु किसान टस से मस नहीं हुये और भारतीय किसान यूनियन अध्यक्ष राम मनोहर चौधरी के नेतृत्व में अनिश्चित कालीन किसान पंचायत शुरू कर दिया।
किसान पंचायत को सम्बोधित करते हुये भाकियू मण्डल उपाध्यक्ष दिवान चंद पटेल ने कहा कि यदि जिला गन्ना अधिकारी और प्रशासनिक अधिकारियों ने किसानों की बात सुनी होती तो ऐसे आन्दोलन की जरूरत न पड़ती। बभनान चीनी मिल अर्न्तगत गन्ना क्रय केन्द्र बेलघाट पर गत 20 नवम्बर से ही कागजों में खरीदारी शुरू कर दी गई, क्रय केन्द्र पर लेबर और ट्रांसपोर्ट की व्यवस्था न होने के कारण खरीदारी बाधित है। गन्ना किसानों ने 15 दिनों तक इंतजार करते हुये सम्बंधित अधिकारियों को सूचना देकर गन्ना खरीद की गुहार लगाया किन्तु उनकी जायज मांगो को अनसुनी कर दिया गया। समूचे जनपद में समानुपातिक खरीदारी नहीं किया जा रहा है, किसान क्रय केन्द्रों पर परेशान है। भाकियू अर्ली, सामान्य रिजेक्ट के नाम पर गन्ना किसानों का शोषण बरदाश्त नहीं करेगी।
भाकियू जिला सचिव शिवमूरत चौधरी, हरिप्रसाद चौधरी ने कहा कि 15 दिनों में गन्ना सूख गया है और किसानों को काफी नुकसान हुआ। खेती किसानी के सीजन में ट्रैक्टर, ट्राली 15 दिनों तक खड़े रहे। गन्ना क्रय केन्द्र पर न पीने का पानी है न रहने का ठिकाना, न कोई विभागीय कर्मचारी। कहा कि सम्बंधित अधिकारी और बभनान चीनी मिल प्रशासन गन्ना किसानों को समुचित मुआवजा दे और समानुपातिक रूप से गन्ने की खरीदारी कराया जाय अन्यथा भाकियू का आन्दोलन जारी रहेगा।
धरने को त्रिवेनी चौधरी, अभिलाष चन्द्र श्रीवास्तव, जैसराम चौधरी, केशवराम, जगनरायन, अजीज, झप्सू चौधरी, राम महीपत चौधरी, दारोगा मिश्रा आदि ने सम्बोधित किया। बुधवार को हक के लिये शुरू हुये किसान पंचायत में उमाकान्त सिंह, श्याम सुन्दर यादव, कमलेश चौधरी, राम गनेश, रामरक्षा मिश्रा, परमात्मा, रामचरन,विद्यालाल यादव, राजमणि चौधरी, श्यामलाल, रामचन्दर, रामबरन, मो. हुसेन, जगमोहन के साथ ही सैकड़ो किसान, मजदूर और भाकियू पदाधिकारी, कार्यकर्ता उपस्थित रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *